मीडिया टुडे – समाचार

एमडीएम में लापरवाही पर समूह को चेतावनी

                                                            जिला पंचायत सीईओ तन्वी हुड्डा ने कन्या माध्यमिक शाला बिछिया में मध्यान्ह भोजन की व्यवस्थाओं के लिए संचालित शिवशक्ति स्वसहायता समूह को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। जारी नोटिस में समूह को मध्यान्ह भोजन बंद पाए जाने के कारण अंतिम अवसर देते हुए भविष्य में ऐसी गलती नहीं दोहराने की चेतावनी दी गई है। सुश्री हुड्डा ने बीआरसी एवं शाला के प्रभारी की उपस्थिति में मध्यान्ह भोजन बंद अवधि के भोजन की राशि एवं खाद्यान्न की राशि बच्चों को भुगतान करने के निर्देश दिए हैं।

                                                            इसी प्रकार प्राथमिक शाला मानिकपुर बिछिया के प्रभारी शिक्षक सेवाराम मरावी को मध्यान्ह भोजन का सतत रूप से निरीक्षण नहीं करने एवं निर्धारित प्रक्रिया का गंभीरता से पालन नहीं करने के चलते कारण बताओ नोटिस जारी किया है। सुश्री हुड्डा ने नोटिस के प्रतिउत्तर में एक सप्ताह के भीतर अपना जवाब प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं।

जिले में 662 मेट्रिक टन यूरिया उपलब्ध

                                             जिले के विपणन संघ के भण्डार केन्द्रों मंे 662 मेट्रिक टन यूरिया उपलब्ध है। इस संबंध में जिला विपणन अधिकारी ने बताया कि जिले में विगत रबी सीजन में 5 दिसम्बर तक 1335 मेट्रिक टन यूरिया का वितरण जिले के भंडारण केन्द्रों से सहकारी समितियों एवं कृषकों को विक्रय किया गया था एवं वर्तमान रबी सीजन में 5 दिसम्बर तक 1542 मेट्रिक टन यूरिया का विक्रय भंडारण केन्द्रों से सहकारी समितियों एवं कृषकों प्रदाय किया गया है। वर्तमान में विपणन संघ के भंडारण केन्द्रों में 662 मेट्रिक टन यूरिया की उपलब्धता है। जिला मंडला हेतु माह दिसम्बर में 2500 मेट्रिक टन की मांग की गई है। 10 दिसम्बर को जबलपुर एवं बालाघाट रैंक पांईट में यूरिया की रैंक लगने पर यूरिया की उपलब्धता और बढ़ जावेगी। भंडारण केन्द्रों एवं सहकारी समितियों में यूरिया का भंडारण है। विक्रय भंडारण केन्द्रांे से संपर्क कर किसान यूरिया प्राप्त कर सकते हैं।

महिलाओं के व्यावसायिक प्रशिक्षण के लिए आवेदन आमंत्रित

                                             मुख्यमंत्री महिला सशक्तिकरण योजनांतर्गत लक्ष्य समूह बलात्कार से पीड़ित महिला, बालिका, दुर्रव्यापार से बचाई गई महिलाऐं जो गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करती हो, ऐसिड विक्टिम, जेल से रिहा महिलायें, परित्यक्ता, तलाकशुदा महिलायें जो गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करती हों, शार्ट स्टे होम, शासकीय एवं अशासकीय आश्रय गृह, बालिका गृह, अनुरक्षण, गृह आदि में निवासरत विपत्तिग्रस्त बालिका, महिलाऐं, दहेज प्रताड़ित, अग्नि पीड़ित महिलाओं, बालिकाओं से व्यवसायिक प्रशिक्षण हेतु वर्ष 2019-20 (तृतीय त्रेमास) के प्रेस नोट प्रकाशित करने के पश्चात् 10 दिवसों के मध्य आवेदन आमंत्रित किये गये हैं। योजना अंतर्गत विभिन्न विषयों में योग्यता अनुसार व्यवसायिक प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा। आयु संबंधी पात्रता में सामान्य वर्ग की महिला की उम्र 45 वर्ष से कम हो, परित्यक्ता, तलाकशुदा, एससी, एसटी, पिछड़ा वर्ग की महिला होने की स्थिति में 50 वर्ष, आवेदन पत्र निर्धारित प्रपत्र में आवश्यक दस्तावेज संलग्न कर, समाचार प्रकाशित होने के पश्चात् 10 दिवसों के मध्य कार्यालय, महिला एवं बाल विकास विभाग जिला पंचायत परिसर मंडला में डाक द्वारा या स्वयं उपस्थित होकर कार्यालयीन समय में जमा किये जा सकते हैं।

आरबीएसके कार्यक्रम एवं जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आज

                                             कलेक्टर कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार 7 दिसम्बर को आरबीएसके कार्यक्रम एवं जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक प्रात 10ः30 बजे से आयोजित की गई है। योजना भवन में आयोजित इस बैठक में परिवार कल्याण कार्यक्रम, टीबी, कुष्ठ, मलेरिया, अंधत्व, आशा, आरसीएच पोर्टल, मिशन इंद्रधनुष, पूर्ण टीकाकरण, सीएम हेल्पलाईन तथा अन्य महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर विस्तार से चर्चा की जाएगी।

सशस्त्र सेना झण्डा दिवस आज

                                             जिला सैनिक कल्याण कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार 7 दिसम्बर को सशस्त्र झण्डा दिवस मनाया जायेगा। इस दिन शहीदों को श्रृद्धांजलि का कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा। आम जनता शहीदों के परिजनों एवं कल्याणकारी योजनाओं में सहयोग के लिए आईडीबीआई बैंक के खाता क्रमांक 0030104000283137 में सहयोग राशि जमा कर सकते हैं। दान की गई राशि आयकर अधिनियम 1961 की धारा 297(2) के अंतर्गत आयकर से मुक्त रहेगी। 

मातृ वंदना सप्ताह की मीडिया कार्यशाला सम्पन्न

प्रमुख सचिव, महिला- बाल विकास श्री अनुपम राजन ने आज मिटों हॉल में मीडिया कार्यशाला में मातृ वंदना योजना की जानकारी साझा की। श्री राजन ने 8 दिसम्बर तक मनाए जा रहे मातृ वंदना सप्ताह की जानकारी देते हुए बताया कि प्रथम प्रसव वाली गर्भवती महिलाएँ और शिशुवती माताएँ इस योजना की पात्र हितग्राही हैं। श्री अनुपम राजन ने बताया कि मातृ वंदना योजना का मुख्य उद्देश्य कार्य करने वाली महिलाओं की मजदूरी के नुकसान की भरपाई करने के लिए आर्थिक क्षतिपूर्ति के रूप में प्रोत्साहन राशि देना और उनके उचित आराम और पोषण की व्यवस्था सुनिश्चित करना है। उन्होंने कहा कि प्रोत्साहन राशि का भुगतान हितग्राही के आधार से जुड़े बैंक खाते अथवा डाकघर खाते में सीधे जमा की जायेगी। पात्र हितग्राही को गर्भावस्था का पंजीयन शीघ्र कराने पर एक हजार रूपये पहली किश्त, कम से कम एक प्रसव पूर्व जाँच (गर्भावस्था के 6 माह बाद) के बाद द्वितीय किश्त दो हजार रूपये तथा बच्चे के जन्म का पंजीकरण और बच्चे के प्रथम चक्र का टीकाकरण पूरा होने पर दो हजार रूपये की तीसरी किश्त देय होगी। उन्होंने बताया कि इस योजना से गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं को पहले जीवित बच्चे के जन्म के दौरान फायदा होगा।

आयुक्त महिला-बाल विकास श्री नरेश पाल कुमार ने जानकारी दी कि अब तक योजना से कुल 14 लाख 55 हजार 501 हितग्राहियों को पंजीकृत किया गया है। लगभग 13 लाख 40 हजार 224 हितग्राहियों को पहली किश्त, 12 लाख 60 हजार 304 को दूसरी और 8 लाख 80 हजार 517 हितग्राहियों को मातृ वंदना योजना के तहत तीसरी किश्त प्रदान की गई है।

नगरीय विकास मंत्री श्री सिंह की विश्व बैंक के प्रतिनिधियों से चर्चा

नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने आज विश्व बैंक की सीनियर म्यूनिसिपल इंजीनियर और को-टास्क टीम लीडर एमपीयूडीपी श्रीमती पूनम अहलूवालिया तथा विश्व बैंक की वाटर एण्ड सेनिटेशन स्पेशलिस्ट वाटर ग्लोबल प्रेक्टिस सुश्री उपनीत सिंह से प्रदेश के 11 शहरों में संचालित योजनाओं के बारे में चर्चा की। इस दौरान आयुक्त नगरीय प्रशासन एवं विकास श्री पी. नरहरि भी उपस्थित थे। मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने कहा कि योजनाओं के क्रियान्वयन में आने वाली सभी बाधाओं को तुरंत दूर करें। उन्होंने कहा कि सभी विभाग आपसी समन्वय स्थापित कर निर्धारित समय में योजनाओं का क्रियान्वयन सुनिश्चित करें, जिससे नागरिकों को योजनाओं का लाभ मिल सके।

ज्ञातव्य है कि विश्व बैंक की सहायता से भेड़ाघाट, नसरूल्लागंज, महेश्वर, धरमपुरी, शाजापुर, छिंदवाड़ा और शहडोल में मल-जल निस्तारण योजना और बुरहानपुर, मुरैना, खरगोन, सेवढ़ा और श्योपुर कला में जल प्रदाय योजना प्रस्तावित है।

सहकारी और निजी क्षेत्र में 8020 रहेगा खाद वितरण अनुपात

प्रदेश में खाद की कालाबाजारी और अवैध भण्डारण को रोकने के लिये मंत्रिमण्डल उप-समिति ने खाद का वितरण अनुपात सहकारी क्षेत्र में 80 प्रतिशत तथा निजी क्षेत्र में 20 प्रतिशत करने का निर्णय लिया है। किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग द्वारा आज इस आशय का आदेश जारी किया गया।

स्कूल स्तर पर आयोजित किये जाएं सड़क सुरक्षा कार्यक्रम

सड़क सुरक्षा के लिये नोडल अधिकारियों की बैठक सम्पन्न

पुलिस प्रशिक्षण एवं शोध संस्थान में आज राज्य सड़क सुरक्षा परिषद और राज्य सड़क सुरक्षा क्रियान्वयन समिति में लिये गये निर्णयों पर की गई कार्यवाही की समीक्षा की गई। समीक्षा बैठक में नोडल अधिकारियों ने अपने-अपने कार्य क्षेत्रों में सड़क सुरक्षा संबंधी किये गये कार्यों एवं प्रयासों की जानकारी दी। नोडल एजेन्सी के प्रभारी अधिकारी, सहायक पुलिस महानिरीक्षक श्री कुमार सौरभ ने कहा कि अत्याधिक वर्षा के कारण क्षतिग्रस्त सड़क, पुल-पुलिया आदि चिन्हित कर उन्हें सुधरवाने की कार्यवाही शीघ्र पूरी कराकर पालन प्रतिवेदन प्रस्तुत किये जायें। श्री सौरभ ने 132 ब्लैक स्पॉट पर की गई कार्यवाही को अगल-अलग बताने के निर्देश दिये।

बैठक में शिक्षा विभाग को निर्देशित किया गया कि स्कूली स्तर पर सड़क सुरक्षा के कार्यक्रम आयोजित कर मासिक और त्रैमासिक जानकारी प्रस्तुत करें। उन्होंने क्षेत्रीय स्तर पर जन-जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने को भी कहा। साथ ही, सड़क सुरक्षा के लिये किये गये अच्छे कार्यों की जानकारी देने के निर्देश दिये। बैठक में प्रदेश में सड़कों पर अतिक्रमण रोकने के लिये क्षेत्रीय स्तर पर कार्यवाही करने को कहा गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here