20 अप्रैल से लॉकडाऊन में आंशिक राहत, सीमाऐं सील और मूवमेंट बंद रहेगा

90 views

संकट प्रबंधन समिति की बैठक में कलेक्टर ने दी जानकारी

                                             कलेक्ट्रेट के गोलमेज सभाकक्ष में संकट प्रबंधन समिति की बैठक संपन्न हुई जिसमें कलेक्टर डॉ. जगदीश चन्द्र जटिया द्वारा 20 अप्रैल से लॉकडाऊन में दी जाने वाली राहतों के संबंध में विस्तार से जानकारियाँ दी गई। बैठक में पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार शुक्ला, सीईओ जिला पंचायत तन्वी हुड्डा, अपर कलेक्टर मीना मसराम, विधायक डॉ. अशोक मर्सकोले, नगर पालिका अध्यक्ष पूर्णिमा शुक्ला, भीषम द्विवेदी सहित समिति के अन्य सदस्य उपस्थित रहे।

                                             बैठक में कलेक्टर डॉ. जगदीश चन्द्र जटिया ने कहा कि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से बचने के लिए सतर्कता व सुरक्षा की आवश्यकता है। आवागमन को पूर्णतः प्रतिबंधित किया गया है। जो जहां है वहीं रहे तभी कोरोना वायरस जैसी महामारी पर नियंत्रण पाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि 20 अप्रैल से लॉकडाऊन में आंशिक रियायत दी जायेगी। किन्तु जिले की सीमाऐं पूर्ववत सील ही रहेंगी। इस दौरान जिले के अंदर किराना, सब्जी, डेरी आदि को सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए खोलने की अनुमति प्रदान दी जा सकेगी। विद्युत, डाक, कोरियर जैसी महत्वपूर्ण सेवायें चालू रहेंगी। ग्रामीण क्षेत्रों की फैक्ट्रियों को शर्तों के अधीन संचालित करने की अनुमति प्रदान की जायेगी। कोचिंग, पार्क एवं धार्मिक स्थान पूर्ववत बंद रहेंगे। मनोरंजन स्थल तथा सार्वजनिक, धार्मिक कार्यक्रम बंद रहेंगे। ऑनलाईन एजुकेशन प्रारंभ रहेगा। कलेक्टर डॉ. जगदीश चन्द्र जटिया ने जानकारी दी कि 20 अप्रैल से मनरेगा के तहत् कार्य प्रारंभ किए जायेंगे। दोपहिया एवं चारपहिया वाहन प्रतिबंधित रहेंगे। अत्यावश्यक मेडीकल कारणों से दुपहिया पर एक व्यक्ति एवं चार पहिया वाहन पर ड्राईवर एवं एक व्यक्ति यात्रा कर सकेंगे। लॉकडाऊन में आंशिक राहत मिलने पर भी धारा 144 का पालन करना अनिवार्य होगा। एक स्थान पर 5 से अधिक व्यक्ति एकत्र नहीं हो सकेंगे। कृषि कार्य में लगे श्रमिकों को अपनी पहचान के लिए कोई भी शासकीय दस्तावेज रखना अनिवार्य होगा। कृषि उपज मंडी में सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए नवीन निर्देशों के अनुरूप उपजों का क्रय-विक्रय किया जा सकेगा। कलेक्टर ने कहा कि जनसुविधा को ध्यान में रखते हुए लॉकडाऊन में राहत देते हुए कतिपय सेवायें प्रारंभ की जायेंगी किन्तु लोगों का मूवमेंट बंद ही रहेगा। बैठक में उन्होंने जिले में उपचार की व्यवस्था, बाहर से आने वाले व्यक्तियों की स्क्रीनिंग एवं उनका फॉलोअप तथा खाद्यान्न की आपूर्ति के संबंध में जानकारी दी। बैठक में पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार शुक्ला ने जिले की सीमाओं में बनाये गये चैकपोस्ट में सुरक्षा संबंधी व्यवस्थाओं के संबंध में जानकारी दी। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here