आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ग्राम स्तर की महत्वपूर्ण कोरोना योद्धा

कोरोना महामारी से लड़ने के लिए हर स्तर पर योद्धा कमर कसे हुए है। ग्राम स्तर पर गठित स्वास्थ्य जांच दल में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली आंगनवाड़ी कार्यकर्ता कोरोना महामारी से बचाव और जागरूकता में अपना भरपूर योगदान दे रहे हैं। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ग्राम स्तर पर न केवल कोरोना से बचाव और रोकथाम की जागरूकता का कार्य कर रहे हैं बल्कि प्रशासन के दिशा-निर्देशों का निचले स्तर पर क्रियान्वयन भी करा रहे हैं। ग्राम पौंड़ी रैयत की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता मीरा उसराठे कोरोना संकट काल में अपनी भूमिका का पूरी गंभीरता से निर्वहन कर रही है। मीरा अपने शासकीय दायित्वों के साथ-साथ व्यक्तिगत रूचि लेकर अपने आसपास के लोगों की यथासंभव सेवा कर रही है। वह न केवल पीड़ित मानवता की सेवा कर रही है बल्कि गर्मी के दिनों में प्यासे पक्षियों के लिए भोजन और पानी की व्यवस्था भी कर रही है। निःसंदेह मीरा अपने कर्तव्य से आगे बढ़कर प्रसंशनीय कार्य कर रही है।

2 लाख 82 हज़ार सड़क मार्ग और 1.15 लाख ट्रेन से आए श्रमिक

                                             अपर मुख्य सचिव एवं प्रभारी स्टेट कंट्रोल रूम श्री आईसीपी केशरी ने जानकारी दी है कि अब तक विभिन्न प्रदेशों से 3 लाख 97 हजार श्रमिक मध्यप्रदेश में वापस आ चुके हैं। इनमें से 2 लाख 82 हजार सड़क मार्ग और एक लाख 15 हजार ट्रेन से आए हैं।                    

अभी तक 88 ट्रेन

                                             श्री केशरी ने बताया है कि अभी तक श्रमिकों को लेकर 88 ट्रेन मध्यप्रदेश आ चुकी हैं। इनमें से आंध्र प्रदेश से एक, दिल्ली से एक, गोवा से दो, गुजरात से 25, हरियाणा से 13, कर्नाटक से दो, केरल से दो, महाराष्ट्र से 29, पंजाब से 3, तमिलनाडु से एक, तेलंगाना से 6 और तीन इंटरस्टेट ट्रेन आ चुकी हैं। दिनांक 18 मई को 4 ट्रेन आएंगी। सिंगरौली, अनूपपुर, रीवा एवं सतना के इंदौर और भोपाल में फंसे विद्यार्थी भी अपने घर पहुँच गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here