इंदौर, उज्जैन और भोपाल संभाग को छोड़कर शेष संभागों में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ होगा बसों का संचालन

जिला मजिस्ट्रेट ने जारी किया सशर्त अनुमति आदेश

गृह मंत्रालय भारत सरकार तथा म.प्र. शासन गृह विभाग द्वारा कोरोना वायरस संक्रमण के रोकथाम एवं बचाव हेतु लॉकडाउन की अवधि विस्तारण के दौरान गतिविधियों एवं क्रियाकलापों के संबंध मे आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किये गये हैं। म०प्र० शासन के निर्देशानुसार राज्य के भीतर इंदौर, उज्जैन एवं भोपाल संभाग के सभी जिलों में यात्री बसों का संचालन 7 जून 2020 तक बंद रखा गया है। शेष 7 संभागों में यात्री बसों का संचालन 50 प्रतिशत क्षमता के साथ किये जाने के निर्देश प्रदान किये गये हैं। जिला मजिस्ट्रेट डॉ. जगदीश चन्द्र जटिया ने उक्त निर्देशों के अनुपालन में मण्डला जिले में यात्री बसों के संचालन के लिए सशर्त अनुमति के आदेश जारी कर दिए हैं।

जारी आदेश के तहत् बसों के संचालन में कोरोना वायरस संक्रमण के रोकथाम एवं बचाव हेतु भारत सरकार एवं म०प्र० शासन द्वारा जारी दिशा निर्देशों का पालन किया जाना अनिवार्य होगा। यात्री बसों का संचालन 50 प्रतिशत क्षमता तक ही किया जायेगा। बस के ड्राईवर, कन्डेक्टर, क्लीनर एवं समस्त यात्रियों को मॉस्क लगाना अनिवार्य होगा तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। बस को समय-समय पर सेनिटाईज करना आवश्यक होगा। यात्रा के दौरान यदि किसी यात्री को खांसी, बुखार आदि के लक्षण पाये जाते हैं तो इसके समुचित उपचार हेतु नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र में सूचना देना अनिवार्य होगा। बस के अंदर एवं सार्वजनिक स्थानों पर शराब, पान, गुटका, तम्बाखू एवं उराके उत्पाद का उपयोग अनुज्ञेय नही होगा। आदेश के उल्लंघन की दशा में भारतीय दण्ड संहिता 1860 की धारा 188 सहित अन्य धाराओं तथा डिजॉस्टर मैनेजमेंट एक्ट 2005 की धारा 51 से 60 के प्रावधानों के तहत सम्बंधित के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जावेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here