मीडिया टुडे – समाचार

उमरिया रैयत में किया गया सर्वेक्षण एवं सेनिटाईजेशन कार्य

                                             कार्यालय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम उमरिया रैयत विकासखण्ड मोहगांव, तहसील घुघरी में कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने पर कलेक्टर डॉ. जगदीश चन्द्र जटिया के मार्गदर्शन में पूरे क्षेत्र को कन्टेनमेन्ट कर दिया गया है। खण्ड चिकित्सा अधिकारी द्वारा 6 टीम तैयार कर उमरिया रैयत क्षेत्र में सर्वे किया गया। सर्वेक्षण में 280 घरों का सर्वे किया गया जिसमें 1335 व्यक्ति, 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चे 220, 60 वर्ष से अधिक 111 वृद्ध व्यक्तियों का सर्वे करते हुए सभी का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। स्क्रीनिंग के दौरान व्यक्तियों को समझाईश दी गई है कि व्यक्तिगत स्वच्छता, सोशल डिस्टेंसिंग, मुंह को मॉस्क या गमछे से ढंकें, बार-बार साबुन से हाथ धोए एवं लॉकडाउन-4 के नियमों का पालन करें।

                                             किसी भी प्रकार के कोरोना लक्षण दिखाई देने पर कलेक्ट्रेट कार्यालय के लेण्डलाइन नंबर 07642-251079 तथा टोल फी नंबर – 104 पर संपर्क कर सकते हैं।

खरीफ 2020 के लिए बीज विक्रय की दरें निर्धारित

                                             उपसंचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास से प्राप्त जानकारी के अनुसार कृषि उत्पादन आयुक्त की अध्यक्षता में दिनांक 12 मई 2020 को सम्पन्न हुई बैठक में बीज विक्रय की दरें निर्धारित की गई हैं। उन्होंने बताया कि सोयाबीन (15 वर्ष की अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 4650, सोयाबीन (15 वर्ष से अधिक अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 6650, तिल (15 वर्ष की अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 7850, तिल (15 वर्ष से अधिक अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 11850, रामतिल (15 वर्ष की अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 4850, रामतिल (15 वर्ष से अधिक अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 8850, मूंगफली छिलका युक्त (15 वर्ष तक की अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 3650, मूंगफली छिलका युक्त (15 वर्ष से अधिक अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 7300 5, धान सुगंधित (10 वर्ष तक की अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 3000, धान सुगंधित (10 वर्ष से अधिक अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 4000, धान मोटी (10 वर्ष तक की अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 2050, धान मोटी (10 वर्ष से अधिक अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 3050 रूपये निर्धारित की गई है।

                                             इसी प्रकार धान पतली (10 वर्ष तक की अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 2850,  धान पतली (10 वर्ष से अधिक अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 3850, मक्का (10 वर्ष तक की अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 2100, मक्का (10 वर्ष से अधिक अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 2700, ज्वार (10 वर्ष तक की अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 2600, ज्वार (10 वर्ष से अधिक अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 3700, कोदो (10 वर्ष तक की अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 2475, कोदो (10 वर्ष से अधिक अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 3450, कुटकी (10 वर्ष तक की अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 2525, कुटकी (10 वर्ष से अधिक अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 3550, मूंग (10 वर्ष तक की अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 4950, मंूग (10 वर्ष से अधिक अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 7400, उड़द (10 वर्ष तक की अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 4250, उड़द (10 वर्ष से अधिक अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 6000, अरहर (10 वर्ष तक की अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 4325, अरहर (10 वर्ष से अधिक अवधि) के लिए प्रभावी बीज विक्रय दर 6150 रूपये निर्धारित की गई है।

4 लाख की आर्थिक सहायता स्वीकृत

                                             जानकारी के अनुसार मृतक रज्जो बाई पति ठगलू बैगा निवासी ग्राम किन्द्री की जहरीले सर्प के कांटने से मृत्यु होने के कारण अनुविभागीय अधिकारी राजस्व मंडला द्वारा मृतक के निकटतम वारसान को कुल 4 लाख रूपये की आर्थिक सहायता स्वीकृत की गई है। आवेदक ठगलू पिता देवसिंह को कुल 4 लाख रूपये की आर्थिक सहायता स्वीकृत की गई है। यह राशि संबंधित के बैंक खाते में जमा करने के निर्देष दिए गए हैं।

सभी स्कूलों में 30 जून तक रहेगा अवकाश

                              शासन द्वारा नोवल कोरोना वायरस एवं उससे जनित बीमारी के संक्रमण से बचाव के लिये शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिये प्रदेश के सभी शासकीय एवं अशासकीय विद्यालयों तथा शिक्षक प्रशिक्षण संस्थाओं में विद्यार्थियों तथा शिक्षकों के लिये 30 जून तक अवकाश घोषित किया गया है।

                              ऑनलाइन अध्यापन की गतिविधियाँ विभागीय आदेश के अनुसार जारी रखी जा सकेंगी।

तेन्दूपत्ता संग्राहकों को प्रोत्साहन पारिश्रमिक का भुगतान जारी

                                             प्रदेश के 32 लाख तेन्दूपत्ता संग्राहकों को संग्रहण वर्ष 2018 में संग्रहीत तेन्दूपत्ते के शुद्ध लाभ से 183 करोड़ 94 लाख के प्रोत्साहन पारिश्रमिक का भुगतान किया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने 23 मई से संग्राहकों को प्रोत्साहन पारिश्रमिक वितरण का कार्य वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से शुभारंभ किया है।

                                             उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य है, जहाँ तेन्दूपत्ता के व्यवसाय से होने वाली सम्पूर्ण शुद्ध आय प्राथमिक सहकारी वनोपज समितियों को उपलब्ध कराई जाती है। वर्तमान में शुद्ध आय का 70 प्रतिशत भाग संग्राहकों को उनके द्वारा संग्रहीत मात्रा के अनुपात में प्रोत्साहन पारिश्रमिक के रूप में नगद भुगतान किया जाता है। शेष 30 प्रतिशत में से 15 प्रतिशत भाग वनों के पुनरुत्पादन और 15 प्रतिशत अवशेष राशि सहकारी समितियों को उनकी प्राथमिकता और माँग के आधार पर गाँव की मूलभूत सुविधाओं के विकास में व्यय किया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here