मीडिया टुडे – समाचार

15 ग्रामों में पहुंची चलित प्रयोगशाला

               कलेक्टर हर्षिका सिंह के निर्देशन में जिले में विद्यार्थियों की शैक्षणिक गुणवत्ता बढ़ाने के लिए दूरस्थ ग्राम पंचायतों में निवासरत छात्रों में वैज्ञानिक अभिरूचि विकसित करने एवं पाठ्यक्रम संबंधी प्रायोगिक कार्य करवाने के लिए ’प्रोजेक्ट नई उड़ान’ के तहत विभिन्न ग्रामों में चलित प्रयोगशाला (मोबाइल लैब) का भ्रमण एवं प्रदर्शन किया जा रहा है। जानकारी के अनुसार विकासखंड घुघरी के देवहरा, बम्हनी, सिंघनपुरी, बीजाड़ांडी के जमुनिया, मानिकसरा, छिंदगांव, बिछिया के मानिकपुर रैयत एवं बटवारा, मवई के सिघौरी, भाडा, नैनपुर के जलतरा, बिन्जगांव एवं पोटिया, नारायणगंज के मझगांव, निवास के भीखमपुर ग्राम में चलित प्रयोगशाला कार्यक्रम का आयोजन किया गया तथा विद्यार्थियों की उपस्थिति में शिक्षकों द्वारा पाठ्îक्रम संबंधी प्रायोगिक कार्य कराये गये साथ ही विद्यार्थियों ने भी सभी प्रयोगों को किया एवं समझा जिससे विद्यार्थियों में काफी उत्साह देखा गया।

’’सबके लिये शिक्षा विद्यालय’’ के अन्तर्गत रानी अवंती बाई विद्यालय चयनित

प्राचार्य शास रानी अवंती बाई कन्या उच्च. माध्य विद्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले के लिये गौरव की बात है कि म.प्र शासन स्कूल शिक्षा विभाग के अधीन संचालित राज्य मुक्त स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा ’’सबके लिये शिक्षा विद्यालय’’ भोपाल के अन्तर्गत शास रानी अवंती बाई कन्या उच्च. माध्य विद्यालय को चयनित किया गया है। ई.एफ.ए. स्कूल में अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के अनुरूप शिक्षा प्रदान की जायेगी। विद्यालय में उच्च स्तरीय सामग्री,प्रशिक्षण एवं उपकरणों की व्यवस्था होगी। अकादमिक परिवर्तन के अन्तर्गत समकालीन इतिहास पर आधारित लघु फिल्म का निर्माण, प्रदर्शन, स्मार्ट क्लास,जीवनकौशल,रोबोटिक्सि मेथड, ई.लायब्रेरी, लोकतांत्रिक, प्रयोगशाला, व्यावसायिक शिक्षा, भाषा प्रयोगशाला.ग्रीनस्कूल केम्पस, जैवविविधता क्षेत्र, वनस्पति गार्डन, चिडियाघर, गेम्स, का संचालन किया जायेगा।

विद्यालय में रोजगारोन्मुखी शिक्षा साथ-साथ छात्रों को वर्तमान भौतिक परिवेश से जोड़ने के लिये 100 कम्प्यूटर का सुसज्जित लेब, जिसके अन्तर्गत ऑफिस 365, पावर बैकअप एज्योर सॉफ्टवेयर पाठयंत्तर गतिविधियों क्रियेटिग टाईपिंग, शुद्ध लेखन का विकास, एन.सी.सी. एन.एस.एस के माध्यम से सेवा प्रशिक्षण किया जायेगा। स्कूल परिसर का विश्वस्तरीय विकास किया जाना है। विद्यालय की प्राचार्य जयलक्ष्मी सोनी ने नगर जिले के अभिभावकों से अपील की है कि बहुत कम शुल्क पर विश्वस्तरीय शैक्षिक सुविधा प्राप्त करने के लिये अपने बच्चों को वैश्विक ब्रांडिग के लिए तैयार ई.एफ.ए. शासकीय रानी अवंती बाई कन्या उच्च. माध्यमिक विद्यालय में प्रवेश दिलाए। स्कूल प्रशासन उनके उज्जवल भविष्य के लिए सकारात्मक प्रयास के लिए विद्यालय कृत संकल्पित है। इस संबंध में विस्तृत जानकारी के लिये 9424713428, 798795368 पर संपर्क कर सकते हैं।

जिला स्तरीय आपदा प्रबंधन कंट्रोल रूम में ड्यूटी निर्धारित

               कलेक्टर हर्षिका सिंह ने जिला आपदा प्रबंधन के अंतर्गत मानसून सत्र् 2020 मंे वर्षाकाल एवं माह अक्टूबर के दौरान वर्षा तथा दशहरा पर्व को देखते हुए आपदाओं से निपटने के लिए जिला स्तर पर आपदा प्रबंधन कंट्रोल रूम स्थापित करने के आदेश जारी कर दिये हैं। उन्होंने कंट्रोल रूम का प्रभारी अधीक्षक भू-अभिलेख राकेश खम्परिया को प्रभारी अधिकारी नियुक्त किया है। आपदा प्रबंधन कंट्रोल रूम कलेक्टर कार्यालय के अधीक्षक कक्ष में स्थापित किया गया है। कंट्रोल रूम का दूरभाष क्रमांक 07642-251079 है एवं प्रभारी अधिकारी का मोबाईल नंबर 9425359361 है। आपदा प्रबंधन से संबंधित किसी भी सूचना के लिए slrmal@nic.in पर मेल भी किया जा सकता है। आपदा कंट्रोल रूम में आपदा से संबंधित सूचना के साथ-साथ कोरोना से संबंधित जानकारी भी दी जा सकती है।

               आपदा प्रबंधन कंट्रोल रूम संपूर्णं वर्षाकाल में 24 घण्टे कार्य करने के लिए 16 अक्टूबर से 31 अक्टूबर तक प्रयोगशाला सहायक शैलेन्द्र कुमार मिश्रा, हेल्पर संतोष कुमार यादव, देवेन्द्र चौरसिया, भृत्य मैकुलाल, सहायक ग्रेड-3 कपिल शुक्ला, पंप अटेंडेट श्रीराम बहादुर, स्टोर अटेंडेट नरेन्द्र श्रीवास्तव, भृत्य निर्मल तेकाम की दिनवार अलग-अलग पालियों में ड्यूटी लगाई गई है। इसी प्रकार सहायक ग्रेड-3 बलराम परधान एवं भृत्य गणेश हरदहा को रिजर्व में रखा गया है। कलेक्टर ने प्रभारी अधिकारी को कंट्रोल रूम में प्राप्त होने वाली समस्त जानकारियों से उच्चाधिकारियों को अवगत् कराने के निर्देश दिये हैं।

जिले में मिले 4 नए कोरोना पॉजीटिव केस

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से प्राप्त जानकारी के अनुसार 16 अक्टूबर की शाम 4 बजे से 17 अक्टूबर की शाम 4 बजे तक 4 नए कोरोना पॉजीटिव केस मिले हैं। जानकारी के अनुसार बम्हनी वार्ड नं.-6 निवासी 65 वर्षीय महिला, ग्राम देवदरा शक्ति नगर निवासी 50 वर्षीय महिला, नैनपुर वार्ड नं.-14 निवासी 40 वर्षीय महिला एवं 25 वर्षीय महिला की कोरोना रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। सभी संक्रमितों को आईसोलेशन में रखा गया है। कलेक्टर हर्षिका सिंह ने संक्रमितों के संपर्क में आए व्यक्तियों के स्वास्थ्य परीक्षण तथा कोरोना जांच कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने जनसामान्य से मॉस्क लगाने तथा सोशल डिस्टेसिंग का पालन करने का आव्हान किया है।

13 कोरोना मरीज स्वस्थ होकर लौटे अपने घर

               मरीजों के द्वारा कोरोना को हराकर स्वस्थ होने एवं घर पहुंचने का सिलसिला लगातार जारी है। इसी क्रम में 16 अक्टूबर की शाम 4 बजे से 17 अक्टूबर की शाम 4 बजे तक जिले में 13 कोरोना मरीज कोरोना को हराकर अपने घर लौटे हैं। स्वस्थ होने वाले मरीजों में शक्ति नगर मण्डला निवासी 57 वर्षीय पुरूष, नैनुपर वार्ड नं.-15 निवासी 31 वर्षीय महिला, ग्राम टाटरी निवासी 42 वर्षीय पुरूष, मवई निवासी 17 वर्षीय महिला, ग्राम रमतिला निवासी 18 वर्षीय पुरूष, ग्राम ठरका निवासी 32 वर्षीय पुरूष, वार्ड नं.-6 बम्हनी निवासी 10 एवं 9 वर्षीय बालिका, 38 एवं 31 वर्षीय महिला, बिछिया सरगम कालोनी निवासी 58 वर्षीय महिला, 65 वर्षीय पुरूष, ग्राम डूण्डादेही कोटवार टोला निवासी 50 वर्षीय महिला शामिल है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वस्थ होकर घर जाने वाले मरीजों को कोरोना से बचाव के लिए जारी दिशा-निर्देशों का पालन करने की समझाईश दी गई।

मधुपुरी, मंडला, महाराजपुर एवं हिरदेनगर के चिन्हित क्षेत्र कंटेनमेंट जोन घोषित

अनुविभागीय दण्डाधिकारी ने जारी किए आदेश

               कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के परिणामस्वरूप अनुविभागीय दण्डाधिकारी मंडला द्वारा ग्राम मधुपुरी, वार्ड नंबर-5 शहीद उदयचंद वार्ड मंडला, रानी अवंती बाई वार्ड नंबर-18 मंडला, दादा धनीराम वार्ड-24 महाराजपुर एवं ग्राम हिरदेनगर के चिन्हित क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। जारी आदेश के अनुसार ग्राम मधुपुरी में कोदू हरदहा के मकान से सुखलाल हरदहा के मकान तक, वार्ड नंबर-5 शहीद उदयचंद वार्ड मंडला में राकेश श्रीवास के प्लाट से हनुमान टेन्ट हाऊस गोदाम की सीमा तक, रानी अवंती बाई वार्ड नंबर-18 मंडला में पुलिस फोरेंसिक भवन के मेन गेट पर, दादा धनीराम वार्ड-24 महाराजपुर में सोनिया उईके के मकान से अनीता देवांगन के मकान तक एवं आशुतोष त्रिवेदी की खाली भूमि से असीम गौतम के मकान तथा गोविंद दुबे की खाली भूमि तक के क्षेत्र को कंटेनमेंट घोषित किया गया है। इसी प्रकार ग्राम हिरदेनगर में सुरेश श्रीवास पिता बाबूलाल श्रीवास के मकान से शैलकुमारी पति नीलकंठ चौरसिया के मकान तक, प्रदीप चौरसिया पिता छोटेलाल चौरसिया के मकान से उत्तम चौरसिया पिता स्व. हरनाम चौरसिया के मकान तक के क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है।

अनुविभागीय दंडाधिकारी मंडला द्वारा जारी आदेश के अनुसार कंटेनमेंट जोन में सड़कों, गलियों, सार्वजनिक स्थल, सार्वजनिक मार्गों अथवा अन्य किसी भी स्थल पर एकत्रित होने, खड़े होने, वाहन या यातायात के किसी भी साधन का उपयोग करने तथा उक्त ग्राम में दूध, किराना, सब्जी मण्डी, दवा दुकान से विक्रय आदि सभी क्रियाओं पर पूर्णतः प्रतिबंध रहेगा। उन्हांेने संबंधित क्षेत्र के रहवासियों को निर्देशित किया है कि वह अपने घरों पर ही रहें, ताकि सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित की जा सके।

जारी आदेश से शासकीय अथवा निजी चिकित्सीय संस्था में कार्यरत अधिकारी या कर्मचारी अन्य अमला व जरूरी सेवाओं में लगे सरकारी कर्मचारी जैसे अग्निशमन कर्मचारी, जल सेवा, विद्युत विभाग, पुलिस बल, अर्द्धसैनिक बल, कार्यपालिक मजिस्ट्रेट, विद्युत मण्डल, इंटरनेट, डॉकतार, टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर, किसी भी तरह की एम्बुलेंस सेवा, लोक शांति अथवा अन्य शासकीय कार्य सम्पादित कराने हेतु नियुक्त सरकारी अधिकारी, कर्मचारी, गंभीर मरीज, बैंक सेवाएं मुक्त रहेगी। कंटेनमेंट जोन के निवासियों के लिए भोजन, राशन, फल, सब्जी, दूध एवं पेयजल पहुंचाने वाले शासकीय अमले को मुक्त रखा गया है। यह आदेश तत्काल प्रभावशील रहेगा एवं इस आदेश के उल्लंघन पर भारतीय दण्ड संहिता 1860 की धारा 188 व अन्य प्रासंगिक धाराओं तथा आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धाराओं के अंतर्गत आवश्यक वैधानिक कार्यवाही की जा सकेगी।

बरसात में होने वाली संक्रामक बीमारी से बचने एडवाईजरी

                              मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. श्रीनाथ सिंह ने बारिश के मौसम में होने वाली संक्रामक बीमारियों से बचने के लिए एडवाईजरी जारी की है। उन्होंने बताया कि वर्तमान समय में बरसात के दौरान जलजनित बीमारी होने की संभावना हो सकती है। बरसात में अक्सर दस्त, उल्टी, बुखार, आंव, पेट दर्द, पेचिस, पीलिया, टाइफाईड, डायरिया जैसे बीमारियाँ होती है। बीमारी से बचने के लिए सावधान रहें। बीमार न हो इसके उपाय करें एवं स्वस्थ रहें।

बीमारी से कैसे बचें – उल्टी, दस्त, पेचिस, आंव जैसी संक्रामक बीमारी से बचने के लिए ताजा भोजन का सेवन करें। शुद्ध पानी पीयें जैसे उबला पानी, आरो का पानी, फिल्टर, हैण्ड पम्प का पानी पीयें, नदी एवं नाला आदि का पानी न पीयें। पानी का क्लोरीनेशन करके पीयें। सड़ी-गली सब्जी, फल, बासा खाना न खायें, मांस का उपयोग बरसात के दिनों में न करें। व्यक्तिगत स्वछता अपनायें। खाने के चीजों को छूने से पहले साबुन से अच्छी तरह हाथ धोयें। इसी प्रकार संक्रमित चीजों को छूने के बाद साबुन से अच्छी तरह हाथ धोयें। भोजन बनाने, खाने के पहले, या शौच के बाद हाथों को अच्छी तरह साबुन से धोयें। स्वच्छ शौचालय का उपयोग करे।

उपचार- डॉ. के परामर्श से उल्टी, दस्त के लिए टेबलेट फ्युराजोलाडिन, मेट्रोजिन डायक्लोमिन, मेट्रोक्लोरापामाइड, जिंक, ओ. आर. एस. का घोल, खीरा, दही, सिकंजी, चावल का पानी (माड) तथा तरल पदार्थ अधिक मात्रा में सेवन करें।

सुझाव- दस्त से संबंधित संक्रामक बीमारी होने पर नजदीकी अस्पताल जायें। ग्राम स्तर में आशा कार्यकर्ता एवं डीपो होल्डर के माध्यम से जीवन रक्षक दवाइयां प्राप्त करें।

                              मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने जनसमुदाय को मलेरिया एवं डेंगू से बचाव के लिए भी सलाह जारी की है। उन्होंने कहा है कि बरसात के दिनों में वेक्टर जनित रोग जैसे मलेरिया, डेंगू, चिकिनगुनिया, फायलेरिया (हाथी पांव) जैसे गंभीर बीमारी होती है। गंदा पानी, नाली, गडढों में पानी एकत्रित होने से मच्छर के लारवा पनपते हैं। मादा एनाफिलिस मच्छर के काटने से मलेरिया होता है। डेंगू का लार्वा साफ पानी में पैदा होता है जैसे कूलर, टूटे हुए टायर, टंकी में एडीज मच्छर के लार्वा पनपते हैं। एडीज मच्छर के काटने से डेंगु होता हैं। इसी प्रकार चिकुनगुनिया का वायरस सीधे हडडी पर अटैक करता है जिसे असहनीय दर्द होता है। मलेरिया, डेंगु, चिकनगुनिया, फायलेरिया से बचने के लिए घर के आसपास की सफाई रखें। पानी इक्कठा न होने दें तथा गडडों को भरे जायें। कूलर व टंकी के पानी को एक सप्ताह में खाली करें। नीम का धुआं करें, शाम के समय खिड़की दरवाजे बंद रखें तथा रात्रि में सोते समय मच्छर दानी का उपयोग करें। बुखार आने पर नजदीकी अस्पताल जाकर खून की जांच कारायें एवं ग्रामीण क्षेत्र में आशा कार्यकर्ता के पास जाकर खून की जांच करायें और दवायें प्राप्त करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here