आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश निर्माण की झलक दिखाई देती है बजट में

वर्ष 2018 के बाद पहला बजट जिसमें कोई नया कर नहीं लगाया : राज्य मंत्री श्री कुशवाह 

उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण (स्वतंत्र प्रभार) एवं नर्मदा घाटी विकास राज्य मंत्री श्री भारत सिंह कुशवाह ने कहा कि वित्तीय वर्ष 2021-22 के बजट में आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के निर्माण की झलक साफ दिखाई देती है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2018 के बाद यह पहला बजट है जब कोई नया कर नहीं लगाया गया है। यह किसान हितैषी और सर्वजन विकास का बजट है।

राज्य मंत्री श्री कुशवाह ने कहा कि मूलभुत सुविधाओं और नवाचार के साथ प्रदेश के विकास के लिये बजट में कई प्रावधान किये हैं। उन्होंने कहा है कि बजट में राज्य सरकार द्वारा मूलभूत सुविधाओं के साथ-साथ सर्वजन हिताय और सर्वांगीण विकास शामिल है। राज्य मंत्री श्री कुशवाह ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ग्वालियर जिले के डबरा, ग्वालियर ग्रामीण और भितरवार विधानसभा क्षेत्र में जल-जीवन मिशन में 70 करोड़ की 45 नल जल योजनाओं का प्रावधान किया है। इससे ग्रामीण क्षेत्रों के हर घर में नल से पानी पहुँचेगा।

राज्यमंत्री श्री कुशवाह ने बताया कि बेहट से दंगियापुरा और खुरैरी, बिजौली, गुन्धारा, जगनिया, गुहिसर सडक निर्माण के लिये बजट में 48 करोड़ रूपये का प्रावधान किया गया है। इसके साथ ही ग्वालियर शहर में स्वर्ण रेखा पर ऐलीवेटेट कोरीडोर के लिये 440 करोड़ रूपये का बजट में प्रावधान किया गया है। इसके साथ ही देवनारायण मंदिर के पास स्टॉप डेम के लिए 1 करोड़ 23 लाख रूपये एवं सांक नदी पर 03 स्टॉप डेम के लिये 2 करोड 72 लाख़ रूपये का बजट में प्रावधान किया गया है। यह बजट प्रावधान ग्वालियर जिले में अन्य विभागों की योजनाओं में दी गई राशि के अतिरिक्त है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here