संक्रमण को देखते हुए प्रोटीन विटामिन युक्त आहार पर है फोकस

कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा अभी थमा नही है। अनुमान के मुताबिक कोरोना वायरस संक्रमण की तीसरी लहर संभावित है ,इसके दुष्परिणामों में बच्चों को विशेष सावधानी रखने की आवश्यकता है ।घर के बड़े अपनी देखभाल स्वयं कर लेते हैं लेकिन बच्चों के लिए देखभाल करना हर माता-पिता के लिए दायित्व बढ जाता है क्योंकि बच्चों के लिए अभी वैक्सीन की कोई व्यवस्था नहीं हो सकी है ।इस संबंध में जब माताओं से बात की गई तो उन्होंने बताया कोरोना वायरस की तीसरी लहर की संभावना के अनुसार हम बच्चों को प्रोटीन विटामिन युक्त आहार पर विशेष ध्यान दे रहे हैं ,जितना हो सके उनको नियमित व्यायाम करने की आदत डाल रहे हैं, इसके अलावा दिन में दो तीन बार गुनगुना पानी पिला रहे हैं जिससे उनकी बॉडी इम्यूनिटी भी बेहतर बनी रहे ।आज आवश्यकता है हर किसी को सचेत रहने की क्योंकि हम, हमारे बच्चे और घर के सभी सदस्य स्वस्थ रहेंगे तो संक्रमण का खतरा उतना ही नियंत्रित रह सकता है ।

मैं बच्चों को रोज़ रात में हल्दी वाला दूध देती हूँ, हल्दी इम्यूनिटी बढ़ाता है और हर सुबह काढ़ा ज़रूर देती हूँ,दिन में 2-3 बार गरम पानी पिलाती हूँ। अभी बच्चों का बाहर जाना ठीक नहीं है तो उनके मनोरंजन के लिए उनके साथ घर में क्रीएटिव ऐक्टिविटी करती हूँ या उनके साथ इंडोर गेम्स खेलती हूँ। उनकी पसंद की चीजें बना कर देती हूँ जो हेल्थी भी हो । खाने में सलाद अनिवार्य रूप से देती हूँ। बच्चों को घर तक ही सीमित रखते हैं जिससे उनकी सुरक्षा बनी रहे ।

रेणुका मोदी , अभिभावक

संक्रमण का खतरा बना हुआ है । कोरोना वायरस की तीसरी लहर के संभावित दुष्परिणामों में बच्चों के लिए विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता है। इसके लिए उनको प्रोटीन ,विटामिन युक्त आहार देने के लिए विशेष ध्यान रख रहे हैं और दिन में दो तीन बार गर्म पानी दे रहे हैं। नियमित रूप से हल्दी युक्त दूध पिला रहे हैं जिससे उनकी शरीर की इम्युनिटी बनी रहे और और उनका शरीर वायरस से निरोगी रह सके । बच्चों की केयर करने के लिए माता पिता को विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है।

शैली गौरे , अभिभावक

जैसा कि हम सुन रहे हैं कि कोरोना वायरस की तीसरी लहर बच्चों के लिए घातक साबित हो सकती है । जागरूकता के तौर पर हम कुछ आदतें डालकर बच्चों की इम्युनिटी बढ़ा रहे हैं । सुबह की धूप सेकने की आदत डालकर, नियमित व्यायाम करवा कर, गुनगुना पानी पीने व प्रोटीन युक्त आहार खिलाकर और बच्चे मास्क का उपयोग नियमित रूप से करें और बार-बार हाथ धुलने एवं सैनिटाइज करने की आदत डाल कर उनको कोरोना से संक्रमित होने से बचाने के लिए अपने प्रयास कर रहे हैं।

भारती पांडे , अभिभावक

कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन से पूरे देश में एक बार फिर कहर का अंदेशा है। इस बार सबसे ज्यादा डर बच्चों के लिए है, क्योंकि उनके लिए कोई वैक्सीन तैयार नहीं हुई है। बच्चों में कोरोना संक्रमण का खतरा कम करने के लिए मैं उन्हें रोजाना गुनगुना पानी पीने को दें रही हूँ और साथ ही रात में सोने से पहले उन्हें हल्दी वाला दूध , क्योंकि इससे वायरल संक्रमण से लड़ने में मदद मिलती है।साथ ही उन्हें जितना हो सके हरी और ताजी सब्जियां भी दे रहे हैं। इस प्रकार हम अपने बच्चों को कोरोना के खतरे से दूर रख सकते हैं।

रणजीत कौर शेखों , अभिभावक

रिपोर्ट : रितेश पमनानी , मंडला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here