सहायक आयुक्त ने अवकाश के दिनों में शाला लगाने वाले शिक्षकों का बढ़ाया हौसला

26 views

रविवार को कई स्कूलों का विजिट कर ग्रीन बोर्ड एवं अन्य शिक्षण सामग्री प्रोत्साहन स्वरूप भेंट की

ट्राइबल  वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन के प्रांतीय प्रवक्ता संजीव सोनी ने विज्ञप्ति जारी कर बताया कि प्रांत अध्यक्ष डीके सिंगौर की अगुवाई में कोरोना संकट के चलते शैक्षणिक रूप से पिछड़े बच्चों के  लिए अवकाश के दिनों में शाला लगाने हेतु शिक्षकों को प्रेरित करने की मुहिम चलाई गई है, जिसमें एसोसिएशन के पदाधिकारीयों द्वारा अवकाश के दिनों में लगने वाले विद्यालयों का  भ्रमण कर शिक्षकों और बच्चों को प्रोत्साहित किया जा रहा है। एसोसिएशन की इस  मुहिम से जनजातीय कार्य विभाग मण्डला  के सहायक आयुक्त विजय तेकाम प्रभावित हुए और उन्होंने भी इस मुहिम को प्रोत्साहन देने के लिए एसोसिएशन के पदाधिकारियों को साथ लेकर रविवार को शाला लगाने वाले  मण्डला और नैनपुर  ब्लॉक के कई स्कूलों का विजिट किया।

सहायक आयुक्त विजय तेकाम ने ऐसी शालाओं के बच्चों और शिक्षकों से चर्चा कर उनका हौसला बढ़ाया और प्रोत्साहन स्वरूप विद्यालयों को व्हाइट ग्रीन बोर्ड, चार्ट्स, मॉडल, फर्स्ट एड बॉक्स, वर्षामापी यंत्र आदि भेंट किए। सहायक आयुक्त के इस तरह अचानक एक्स्ट्रा क्लास में पहुचने पर शिक्षक और बच्चे उत्साहित हुए। सहायक आयुक्त द्वारा बच्चों से सामान्य ज्ञान एवं पढ़ाई से संबंधित प्रश्न किए, जिसका कुछ बच्चों ने संतोषप्रद जवाब दिया। उन्होंने बच्चों को लक्ष्य निर्धारित कर समय-सारणी के अनुसार पढ़ाई करने का सुझाव दिया, साथ ही बच्चों को पढ़-लिखकर सफल नागरिक बन विद्यालय, गांव और जिले का नाम रोशन करने की शपथ दिलाई। सहायक आयुक्त द्वारा दीपावली के अवसर पर छुटि्टयों के दिन भी स्कूल आकर पढ़ने के लिए बच्चों को मिठाई खिलाकर मुंह मीठा कराया गया, साथ ही माध्यमिक शाला सर्रा पिपरिया में आयोजित रंगोली प्रतियोगिता एवं दीप सजावट प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी बच्चों को कापी-पेन और कंपास बाक्स देकर पुरस्कृत किया गया। 

इसके पहले भी सहायक आयुक्त विजय तेकाम द्वारा ट्रायबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन की शालाओं को गोद लेने, कोरोना काल में कोरोना वारियर्स के रूप में परीक्षा में संपन्न कराने, रक्तदान करने की मुहिम में शामिल शिक्षकों को प्रमाण पत्र आदि देकर प्रोत्साहित किया जाता रहा है, जिससे शिक्षकों को शिक्षा के क्षेत्र में कुछ नया और अच्छा काम करने की प्रेरणा मिलती रही है। ट्राइबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन के प्रांताध्यक्ष डीके सिंगौर ने कहा कि सहायक आयुक्त विजय तेकाम के इस विजिट से एसोसिएशन के पदाधिकारियों में उत्साह बढ़ा है, जिससे पदाधिकारियों द्वारा दीन हीन शालाओं को गोद लेने और अवकाश के दिनों में शाला लगाने की मुहिम को और बल मिलेगा। प्रांताध्यक्ष ने बताया कि ट्राइबल क्षेत्र के ग्रामीण बच्चों का कोरोना में बहुत नुकसान हुआ है, जहाँ तीसरी के बच्चे हिंदी पाठ का वाचन आसानी से कर लेते थे, अब पांचवीं के बच्चे भी हिंदी के पाठ अच्छी तरह नहीं पढ़ पा रहे हैं। सहायक आयुक्त एवं प्रांताध्यक्ष द्वारा माध्यमिक शाला बरबसपुर, माध्यमिक शाला झिरिया, प्राथमिक एवं माध्यमिक शाला सगौनिया, माध्यमिक शाला सर्रा पिपरिया, प्राथमिक एवं माध्यमिक शाला चिचोली, आदि विद्यालयों का विजिट किया गया, जहां एसोसिएशन के पदाधिकारी शिक्षक रश्मि मरावी, महेंद्र परते, दर्शन गोस्वामी, लक्ष्मण धुर्वे, नफीस खान, उज्जवल बढिए, संजीव सोनी, गणेश ठाकुर, सुरेश श्रीवास्तव, फत्ते सिंह ठाकुर, भूपेंद्र चौहान द्वारा छुट्टी के दिन अतिरिक्त कक्षाओं का संचालन किया जा रहा था। एसोसिएशन की विजिट टीम में सहायक आयुक्त विजय तेकाम, एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष डीके सिंगौर के साथ जिलाध्यक्ष दिलीप मरावी, कार्यकारी अध्यक्ष नंदकिशोर कटारे, मोहगांव ब्लाक अध्यक्ष लोकसिंह पदम शामिल रहे।

ट्राइबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन ने कोरोना संकट के समय भी अच्छा काम किया था। अब कोरोना काल के कारण पढ़ाई में पिछड़े बच्चों की एक्स्ट्रा क्लास लगाने और शाला गोद लेने का जो काम किया जा रहा है, यह सराहनीय है। सभी शिक्षकों को स्वैच्छिक रूप से बच्चों के हितार्थ आगे आना चाहिये। याद रखें बच्चे हैं तो हम शिक्षक हैं।

विजय तेकाम ,सहायक आयुक्त जनजातीय कार्य विभाग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here